“रोशन रतूड़ी” विदेशो मै फँसे भारतीयों नागरिको के मशीहा।

“रोशन रतूड़ी” विदेशो मै फँसे भारतीयों नागरिको के मशीहा।

रोशन रतूड़ी जी की पोस्ट से लिया गया। दोस्तो बहुत से हमारे उत्तराखंडी भाई, भारतीय नागरिक विदेशो मै बुरी तरह से फँसे है उनमें से कुछ दलालों की वजह से व कुछ ग़लत कंपनियों की वजह से नर्क जैसी ज़िंदगी

दिव्यांगता को अभिशाप न बनने दे

दिव्यांगता  को अभिशाप न बनने दे

नमस्कार। दिव्यांगता को अभिशाप न बनने , आलीशान 3E स्किल सेन्टर विकलांग महिलाओं को आगे बढ़ने का अवसर प्रदान कर रहा है। दिव्यांग महिलाओ को रोजगार आधारित विभिन्न कोर्स करवाना ही इस दिशा में एक अचूक प्रयास होगा। यह ट्रेनिंग

🌷पञ्चगव्य उत्पाद प्रशिक्षण शिविर🌷

🌷पञ्चगव्य उत्पाद  प्रशिक्षण शिविर🌷

🌷पञ्चगव्य उत्पाद प्रशिक्षण शिविर🌷 *गौमाता दान से नही विज्ञान से बचेंगी* गाय बचेगी तो हम बचेंगे, यह धरती बचेगी। गोपालन से राष्ट्र को स्वावलम्बी बनायें। देसी गऊओं के पंचगव्य उत्पदों से कमाएं ₹15000 से ₹1,00,000 या अधिक प्रतिमाह तक। दूध